SAD SHAYARI ! HEART TOUCHING SAD QUOTES 

Sometimes we really feel unhappy and need to specific our unhappiness. So Sad Shayari is the most suitable choice to specific your interior unhappiness on social networks. Here we're having a big assortment of Sad Shayari on this web page. You can select or choose all kinds of Shayari in accordance with your temper and share it the place you need.

There are many reason of getting upset. And the best way to get relief of these heart burdens is reading sad love Shayari, You can find a huge number of sad quotes and Romantic Shayari with images on this page.

As everyone knows that everybody spends quite a lot of time on the social community. And this is the best platform to express your inner feelings whatever it may be. And for expressing your heart feelings all of you need to have some amazing and great content in form of quotes or images. Today here we come with a large collection of Heart Broken Shayari & Romantic status in hindi with quotes and images.

On sharing them you can unburden your heart. So select the best assortment from right here and share them in your social networks. You can share Sad Shayari on whatsApp, Facebook, Instagram or every other social community.

Sad Shayari is probably the most trending subject all around the world. Every lover needs to share his/her unhappiness by way of unhappy poems, unhappy SMS or Shayari. If you might be one among them and looking for such kinds of quotes then you might be in the precise place.

Sad Shayari in Hindi 

Sad Shayari in Hindi

उनसे मोहब्बत हमें कोश न होती,
तो ये उदासी मेरे पास न होती।
वफा के नाम पर सजा मिली है मुझे,
थोड़ा जी लेते जो वो बेवफा न होती।

**
                                     


रुखसत कर दो मुझे इस जमाने से,
गम ही गम मिला मुझे दिल लगाने से।
मेरी हालत पर जरा भी रहम न आया,
हम गुजर गए टूटे हुए पैमाने से॥

**



मेरी वफाओं से तुम एतराज न करो,
भरी महफिल में बदनाम मुझे आज न करो।
बड़े अरमान से हम प्यार लेकर आए हैं,
दगा देकर हमें नाराज न करो॥

 **



मेरे करम पे तुम अगर सितम करोगे,
तो बेवफा इक दिन घुट घुटकर मरोगे।
हम अकेला छोड़ गए अगर तुम्हें तन्हाई में
तो मेरी याद में तुम आहे भरोगे॥

** 



मेरे अश्कों से तू अपना दामन साफ कर,
अकेला तड़पता हूं मैं ऐ खुदा इंसाफ कर।
उनकी बेवफाई में भी कुछ राज छुपा है,
मेरे खुदा तू उनके हर गुनाह माफ कर॥



**


खूबसूरती तो बहुत दी खुदा ने तुम्हें,
मगर हमें तुम्हारी वफा न मिल सकी।
बहुत आग दी हमने बुझते चिराग को,
मगर मोहब्बत की शमा न जल सकी।




**




यूं ही मुफ्त में तुम मुझे गम दिये जाते हो,
कम से कम गम की कुछ कीमत तो लेते जाओ।
इक दिन होठों से छूकर तुम ही भरोगे मेरे जख्म,
आज भले ही कितने जख्म देते जाओ।




** 





कैसे यकी दिलाऊं के कितना चाहते हैं तुझे,
जान भी अगर मांगो तो नाम तेरे कर डालें।
गैरों से अगर हंसकर बात करोगे,
तो मर जाएंगे तुम्हें दिल से याद करने वाले॥



** 



कैसे तुमसे मोहब्बत करता है ये दिल,
कैसे तेरी अदाओं पे मरता है ये दिल।
सीना मेरा चीर कर देख ले तू जालिम,
कितने जख्म लेकर धड़कता है ये दिल॥


** 



कितने बेरहम हो गए हैं आजकल,
के मुस्करा कर दिल तोड़ जाते हैं।
हम जानते हैं वो हमारे काबिल नहीं,
फिर भी उनसे हम वफा किए जाते हैं।




** 




लाखों बार जुड़कर टूटा ये दिल बेचारा है,
गैरों की ठोकर का नहीं तेरी बेवफाई का मारा है।
तुमने तो मुझे किसी काबिल नहीं छोड़ा है,
फिर भी तेरी याद में इक इक पल गुजारा है।




** 




घबराना शरमाना और अदाओं का कहर,
कब तक चलेगा खुदा इतना बता दे।
हम उनकी याद में दिन रात तड़पते रहे,
बेहद चाहते हैं उन्हें कोई इतना बता दे॥


** 


इन्हें भी पढ़े : Hindi Shayari collection! Romantic Shayari on Love in Hindi





तुम्हारा ये नखरा हम नहीं झेलेंगे।
तुमसे दूर ही अच्छे हैं अकेले ही रह लेंगे।




** 



कब तक तुम हमें यूं तड़पाते रहोगे,
याद बनकर दिल में आते रहोगे।
कितना भी हमसे दूर चले जाओ,
साये की तरह साथ हमें पाते रहोगे।




**



यारों के लिए हम मोहब्बत छोड़ते चले,
खुद अपना दिल हम तोड़ते चले।
अब नहीं खुशी का हम इन्तजार करेंगे,
गमों से रिश्ता हम जोड़ते चले।



**



देखो किस कदर उनको छोड़ा है मैंने,
कैसे जिन्दगी का रुख मोड़ा है मैंने।
उनसे भला क्यों गिला करें हम,
अपने दिल को खुद तोड़ा है मैंने



**



बहुत पहले आपसे इजहार कर देते,
ये जिंदगी तेरे नाम यार कर देते।
इक नई जिंदगी हम भी जी लेते सनम,
अगर मेहरबानी हम पर इक बार कर देते॥


**



अगर आप नाराज न हों तो, .
हम मोहब्बत की जंग जीत जाएं।
आखिरी तमन्ना है मेरी कि
तेरी पनाह में ये जिंदगी बीत जाए॥


** 



ठुकराकर किसी के अरमान कहते हैं हम बहुत महान हैं।
जोड़कर देखो किसी का दिल तोड़ना बहुत आसान है।


**



सीने पर घाव खाकर देखो हम जीने लगे।
जबसे वो खफा हुए अश्क हम पीने लगे।



**



कभी बुरी नजर से देखें तुमको,
तो हम पर लानत हो।
अब क्या चाहें आपको,
आप किसी और की अमानत हो।


**




ये तो मालूम है कि इक न इक
दिन तूने हमको भुलाना है।
हमें बीच वीराने में छोड़कर
तुम्हें गैरों का घर बसाना है।



**


भरी दुनिया में आखिर दिल को बहलाने कहां जायें।
मोहब्बत हो गई जिनको वो दीवाने कहां जाये।


**



हमें क्या मालूम था हंसते फूल दिल जलाऐंगे।
गैरों को अपना कर वो हमको भूल जायेंगे।



**


कैद खाना है जिन्दगी मेरी तेरी मोहब्बत के बगैर।
समझो तुम बेताबी दिल की न समझो हमें गैर॥


**


तुम्हें देखना चाहते थे हम बूंघट की आड़ में।।
लेकिन सभी अरमां बह गए अश्कों की बाढ़ में॥



**


तेरे हुस्न के तलबगार हैं हम।
हर सजा कुबूल है जो गुनेहगार हैं हम॥




**



वो हमसे नफरत हम उनसे प्यार कर रहे हैं।
हम उनका और वो मेरी मौत का इंतजार कर रहे हैं।



**



हमको जाम समझकर वो पी रहे हैं।
फिर भी उनके इश्क में हम जी रहे हैं।




** 



बरसते थे जहाँ फूल वहाँ कांटे बिखर गये
याद करते हैं लोग तब जब साथी गुजर गये।





**




नजर आ रहा है मुझे बर्बादी का रास्ता।
उतना ही दूर हो गया मैं जितना तेरे पास था।




**



वो चाहते हैं हम आजाद रहें, बर्बादी में भी कसर नहीं।
हर दर्द हँस के सहा, फिर भी उन पर हुआ असर नहीं।





**




मयखाना तेरी आँखों का नशा दे गया,
जिन्दगी भर का दर्द बेबफा दे गया।
तोड़ दिए एक पल में सारे सपने मेरे,
जाते जाते कैसी ये सजा दे गया।



**



पडेंगे जहाँ पांव तेरा, दिल वहां बिछा दूंगी।
मिले गर प्यार न तेरा, आसमान को झुका दूँगी॥




**



अमानत हो किसी और की,
मगर जागीर मेरी लगती हो।
नशिवां संवरती है किसी और की,
मगर तकदीर मेरी लगती हो।




**



अपनी नजरों की सनम अब मत गिराओ बिजलियाँ।।
खाक यह हो जाएगा जलकर हमारा आशियाँ।




**



दर्द जो दिल में है वह कहके सुनाऊं कैसे।
राज पोशीदा है किसी को मैं बताऊं कैसे॥



**



करोगे जुल्मों सितम जो हम पर,
वो सब खुशी से तमाम लेंगे।
हशर के दिन हम खुदी के आगे,
तुम्हारे दामन को थाम लेंगे।


**


नफरत करते हो मुझ से अगर,
बेशक तुम माहे निगार करो।।
लेकिन न उदू से वादा वफा,
करने का सनम इकरार करो॥


**



गजल

नहीं शक्ल तक जिसकी देखी किसी ने,
मुहब्बत में उसकी गिरफ्तार हूं मैं ।
जमाना हुआ नाम पर जिसका शैदा,
उसे देखने का तलबगार हूँ मैं।
दिखाता है जो जरें-जरे में जल्वा,
रहे हर जगह भी पर्दै नशीं है।
उसी एक पर्दे नशीं का नजर भर,
फकत चाहता करना दीदार हूं मैं ॥
किसी ने कहा मंदिरों में वह रहता,
बताया किसी ने उसे मस्जिदों में।
उसे काबे-काशी में ढूंढा न पाया,
भटकता-भटकता गया हार हूं मैं॥
रहता घूमता दर-बदर जुस्तजु में,
ॐ मगर हो सकी आरजुएं न पूरीं।
लगा इस तरह दर्दे गम है सताने,
हुआ उसकी चाहत में बेजार हूं मैं ॥
जमाने से मुंह फेर कर बन्द आंखें,
उसे ढूंढने में फकत मिट गया मैं। 


Hope friends our today’s article on Sad Shayari would be very meaningful and useful for you all and if you think that this stuff is amazing and it’s good to be shared with your friends then I request you all to share it with your friends and make our post popular so that other people can also take advantage of it.



Post a Comment

Previous Post Next Post