Romantic Shayari ! Romantic Shayari in hindi

Hello My Dear Friends, In this post we’ve selected the best Romantic Shayari in Hindi for Lover, Beautiful Romantic Love Shayari for Girlfriend & Boyfriend, Hot & Romantic Love Messages, Romantic Shayari and Romantic Status in Hindi.

Romantic Shayari

Romantic Shayari


बचकर रहना यारों बला खेलती है।
हसीनों की आंखों में कजा खेलती है।

**

सैर कर दुनियां की ग्राफिल जिन्दगानी फिर कहाँ।
जिन्दगानी गर रही तो नौजवानी फिर कहाँ ।।

**

मुहब्बत हमने माना जिन्दगी बरबाद करती है।
क्या यह कम है, मर जाने पे दुनियां याद करती है।

**

कंकर पत्थर क्या करूं देओ गले का हार।
खैर मनाऊं तेरे प्यार की, कर दो मुझे निहाल॥

**

जैसे फलक पे चांद सितारों में एक है।
दोस्त हमारी देखों हजारों में एक है॥

**

थाली भरी पकवान की पास पड़ा गिलास।
प्यारी तेरी याद में, भूख लगे न प्यास॥

**

आह जालिम तीर मारा दिल निशाना हो गया।
एक बार मेरा था वो भी बेगाना हो गया।।

**

खुदा करे किसी का हबीब न हो।
ये दान वो है कि दश्मन को नसीब न हो।

**

तेरी महफिल में आके तश्नगी बढ़ गई।
आज मुझे सनम बिन पीए चढ़ गई।

**

सनम जाने लगी है बहार फिर भी करते हैं तेरा इंतजार।
जीते जी मार डालती है मुझे याद तेरी बार-बार॥

**

उनकी हिफाजत करना गैरों की जिम्मेदारी है।
मगर हम डरने वाले नहीं हम भी प्रेम पुजारी हैं।

**

अगर तेरा प्यार मिल जाता महजबी।
तो जिन्दगी भर की मिट जाती तश्नगी॥

**

किसी से दिल का लगाना न रहा।
क्या करें जीकर बहाना न रहा।

**

रात को मेरे ख्यालों में आकर गैरों से करके बातें चार।
अब तो प्यार तुम्हीं से करेंगे मर जाएँ चाहे सौ बार॥

**

गुस्से में भरी मेरी जां सरकार है।
लेकिन मैं जानता हूं इसमें भी प्यार है।

**

चींटी चढ़ती है पहाड़ पर मरने के वास्ते।
लड़कियां फैशन करती हैं लड़कों के वास्ते॥

**

कदम कैसे उठे कांटों भरी है प्यार की राहें।
कहीं बिखरे हुए आंसू कहीं बिखरी हुई ऊंहिं॥

**

आंखों में लाल डोरा, कानों में बालियाँ।
हमको गरीब जानकर, देती हो गालियाँ।।

**

तेरे सदके - मिलादे मेरा प्यार ऊपर वाले।
देखू दुनियां की मैं भी बहार ऊपर वाले॥

**

माशूक नजर का भोलापान, इस दिल को लुभाना क्या जाने।
जो खुद ही निशाना बना बैठे, वो तीर चलाना क्या जाने ।।

**

खुदा कसम तुम हमें पहचान लेती हो।
देखती हो तो आंचल पर दुपट्टा डाल लेती हो।

**

न तुम्हारे दिल में कुछ और है, जुबां कुछ और कहती है।
बनावट छिप नहीं सकती, बनावट खुल के रहती है।

**

इश्क करने वालों की देखी हमने तबाही है।
बगल में पोटली देखी सर पे चारपाई है।

**

तुम्हें है रोग अगर तीर ही चलाने का।
मुझे है नशा चोट खाके मुस्कराने का।

**

दिल उसी को दीजिए दिलदार जो होवे।
क्या हिन्दू क्या मुसलमान कदरदान जो होवे॥

**

आपका मुस्कुराना अच्छा लगा।
आपको मुस्कुराते देख, मन में प्यार जगा।

**

रोमियो बनके मैं तुझे ए गोरी प्यार करूंगा।
सच कहता हूं तुझे कभी न बेकरार करूंगा।


 Best love Shayari



मेरे मन की बात जब चाहूं, तेरे होंठ गाल को चूम लूंगा।
मुझसे कोई पुछेगा तू कौन है,
मेरे दिल की धड़कन है तू बोल दूंगा।

**

करता हूं मैं प्यार तुझे, जमाने को बता दूं।
गर यकिन न हो किसी को तो सच करके दिखा दूं॥

**

नजर से नजर मिलेंगे तो दिल धड़केंगे जरूर।
बेचैन दिल मान गये तो ठीक, नहीं तो हो जायेंगे मशहूर॥

**

दोस्तों छपाना नहीं दिले अरमान।
कह डालना महबूबा से दिले दास्तान॥

**

नजरों ही नजरों में नजर अटक न जाए।
इस दिल का क्या ठिकाना कहीं भटक न जाए।

**

खरीदार खरीदकर लाए तो क्या लाए।
दिल बिक जाने के पैगाम लाए तो क्या लाए।

**

सब लोग जिधर हैं उधर देख हम रहे हैं।
देखने वालों की नजर देख रहे हैं।

**

आया था मेरा यार बताया न किसी ने।
इस गैर मुहल्ले में बुलाया न किसी ने॥

**

छुपे पत्तों में मुझे सूरत जो दिखाई है।
गुलाब की रंगत तूने ये कहां से पाई है।

**

चाकर हैं तेरे रूप के नौकर हैं चाह के।
कितने मारे पड़े हैं तेरी तिरछी निगाह के॥

**

कयामत है किसी को प्यार करना इस जमाने में।
कजा का सामान रखा हुआ है इस खजाने में॥

**

कोई ना मीत अपना मतलब का यार है।
मझधार में नाव करके करता न पार है।

**

बात यह है मेरी जान दिल बहलाने की।
दिल अगर चाहे तो यह बात है मिल जाने की।

**

कर कमाई नेक बन्दे मुफत का खाना छोड़ दे।
प्यार महंगा हो गया अब प्यार करना छोड़ दे॥

**

न चांद की परी अच्छी, न सोने की परी अच्छी।
दिल जिसपे फिदा हो जावे, वही दिल परी अच्छी।

**

गौरी आंख का काजल बादल से तेज है।
आशिक को करती घायल फूलों की सेज है।

**

देख कर मत रीझना ऊपर की सफाई कर।
वर्क चांदी का चढ़ा, गोबर की मिठाई पर॥

**

वह कहाँ जीते रहे जो, बेवफाई कर गए।
मर गए आखिर किसी से आशनाई कर गए।

**

आईये बैठीये दिल का, हाल सुनाईये।
मैं मुस्कुरा रहा हूं, आप भी मुस्कुराईये।

**

मुस्कुराना अच्छी जिन्दगी की निशानी है।
मुस्कुराने वालों की हसीन जिन्दगानी है।


**


प्यार की दीवार दो विश्वासों पर खड़ी होती है।
कहीं कांटों का हार तो कहीं फूलों की लड़ी होती है।


**

पुस्तक अच्छी लगती है जब उसका कवर हो।
लड़कियों अच्छी लगती हैं जब उसका लवर हो।


Romantic Shayari in hindi



दिल है जब दीवाना, तो क्या करेगा जमाना।
उसने तो सीखा है, मोहब्बत को आजमाना॥

**

कैसी है दुनिया जहाँ मुस्कुराना गंवारा है।
अपनी खुशियों पर भी हक न हमारा है।

**

याद आती है तुम्हारा जब मैं तन्हा रहता हूँ।
तू ही तू दिल में होता है, चाहे मैं जहाँ रहती हूँ।

**

तुम जो सताए मुझे, वो गम तुम्हारे पास न हो।
मेरे हर खुशियां तुम्हारे है पिया तुम उदास न हो॥

**

पाने के बाद तुम्हें दिलों में छुपा के रखूगी।
मन में मंदिर में, मूरत बना के रखूगी।

**

गुलशन में गुल खिले तभी गुलशन महक गया।
खुशबू से तेरे हुस्न की, आलम बहक गया।

**

तू बंदगी है मेरी तू मेरा प्यार है।
इस मेरी जिन्दगी के लिए तू बहार है।

**

कुरबान तेरी शान पर होता है हर बशर॥
वह खुश नसीब है जिसे देदे तू इक नजर।

**

जबकि नजरों में तेरी शक्ल समा जाती है।
तबतो मर्दो में भी जिंदादिली आ जाती है।।

**

गुलफाम तेरे लव हैं क्या? इमरत के हैं प्याले।
देखते ही जिन्हें जी जाते हैं मरने वाले।

**

गजब का हुश्न में जादू है सितमगर तेरे।
जिनसे खिंच करके तेरी ओर सब चले आते॥

**

तुम इतने खुशनुमा हो हैं कुरबान हजारों ॥
नजराना दे रहे हैं दिलोजान हजारों॥

**

कर प्यार के इकरार को इन्कार कर रहे।
लेते हो नाम प्यार का तकरार कर रहे।

**

इकरार प्यार का किया लेकर के मेरा दिल।
छिप-छिप के मर किसलिये गैरों से रहे मिल॥

**

है प्यार वही एक से होता जो एक बार।
दिल एक लिया करता है, लेते नहीं हजार ।।

**

तोड़ना चाहो अगर तो तोड़ दो जंजीर भी।
टूट सकते हैं मगर ये प्रेम के धागे नहीं।

**

रोक सकता है न कोई दो दिलों के प्यार को।
दिलके दीवाने हैं मिलते तोड़ दर-दीवार को॥

**

अगर चाहे तो वीराने को भर दे तू बहारों से।
बदल दे सत के गम को रंगीनी नजारों से॥

**

गजब का एक जादू है सितमगर की निगाहों से।
बिछाए है पलक रहता जमाना तेरी राहों में।



 Beautiful Hindi love Shayari


देखी नजर से जबकि तेरी शादमानियाँ।
बुड्ढों के दिल में आ गई एकदम जवानियाँ ।।

**

नीचे अपनी आज वो नजर झुकायें क्यों ना
पड़ती है एक साथ नजर उन पै हजारों।

**

तड़पें न उन्हें देखके तो और क्या करें।
नजरों में उनके छिप रही खजर की धार है।

**

दिल लेके हमसे आँख चुराओ नहीं सनम।
हाथों में हाथ देके छुड़ाओ नहीं सनम ।

**

नजर मिलने से तेरा दिल ये बहल जाता है।
नजर हटते ही मेरा दिल पे मचल जाता है।

**

बेशक छिपी बहार है इक तेरी नजर में।
नजरें जो मिलाई गुलजार खिल गया।

**

जाने ये इश्क आगे दिखायेगा रंग क्या।
जो इब्तदा में आगे के शोले भड़क उठे।  

**

आते अगर वो पास में होता हसर तो क्या।
देखा तो दूर से ही कलेजा तड़प गया॥

**

पास दौलत जिसके हैं उनको करै दुनियां सलाम।
दौलत वाले हमने देखे हुस्नवालों के गुलाम।

**

प्यार मझको चाहिये जाये भले ही दिल कहीं।
प्यार के आगे जहां में और कोई शै नहीं।

**

जो मागं मुझे मेरी सरकार दे दो।
मेरा दिल लिया है, मुझे प्यार दे दो।

**

दिल को देने से अगर दिल का प्यार मिल जाये।
दिल को तड़फते हुए को इक करार मिल जाये।

**

जो जावे भूल अपने को दीवाना उसको कहते हैं।
लगे जाकर ठिकाने पर निशाना उसको कहते हैं।

**

सभी जाते चले हैं छोड़कर आब-दाने को।
निशानी प्यार की लेकिन नहीं मिटती जमाने से॥

**

दीवाना बन भटकता हूँ मैं तेरी चाह में।
अपनी निगाह अब तो मिला दे निगाह में॥

**

जी जान से हजारों ही की चाहते हैं तुझे।
तेरे सिवा है और चाहत नहीं मुझे॥

**

ओ मेहरबान मुझे पे इनायत की नजर कर।
मैं तुझको देखता हूं, तू देख एक नजर ।।

**

करिश्मा क्या दिखाती है गजब का इश्क बीमारी।
जो जीने भी नहीं देती जो मरने भी नहीं देती।

**

वह गाफिल है हसीनों पर किया एतबार करते है।
वो अपनी मौत को अपने गले का हार करते हैं।

**

जिस तरह देखा खिंजा के बाद में आती बहार।
इस तरह माशूक करते बाद में गुस्से से प्यार॥

**

दिल से तो तुझे अपना बनाए हुए हैं।
तस्वीर तेरी दिल में सजाए हुए हैं।

**

दिल को है तेरी याद भुलानी नहीं कभी।
कर याद तेरी चैन भी आती नहीं कभी।

**

दिल मैंने तुम्हारा सनम आबाद किया है।
तुम वह हसीना हो मुझे बरबाद किया है।

**

चाहत में हम सनम तेरी बरबाद हो गये।
तुम हो सके शायद हम नाशाद हो गये।

**

तुमने मिलाके फेरली ऐसी सनम निगाह।
दिल देके गम लिया है, किया क्या गुनाह।

**

बा हआ हूँ दर्द से दिल अपना बचाकर।
आकर के दर्दे दिल की ओ बेदर्द दवा कर॥

**

इश्क में आशिक हुआ है दिल में इतना बेकरार।
शक्ल अपनी दे दिखा पर्दै नशी ओ एकबार ॥

**

बेबफाई देखली हमने तुम्हारी ओ सनम।
फिर भी तेरे साथ करते बफा जाते हम॥

**

हुए बदनाम हम तुझसे मोहब्बत कर जमाने में।
मगर तुमने कसर छोड़ी न मुझ पर जुल्म ढाने में॥

**

जमाने में भटकता मैं रहाकर जुस्तजू तेरी।
मगर तूने नहीं मुझ पर इनायत की नजर फैरी॥ 

Post a Comment

Previous Post Next Post